मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में निवेशकों के डूबे 14 लाख करोड़ रुपये

0
67

आर्थिक मोर्चे पर नाकाम मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में निवेशकों का दिवाला निकल चुका है। दूसरे कार्यकाल के पहले 100 दिनों में निवेशकों के करीब 14 लाख करोड़ रुपए डूब चुके हैं।

इकनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के दौरान BSE पर सिर्फ 14 प्रतिशत शेयरों ने ही पॉजिटिव रिटर्न दिए हैं। खबर के अनुसार, बीएसई में 2,664 एक्टिव ट्रेड स्टॉक में से 2,290 स्टॉक की कीमतों में भारी गिरावट आयी है।

आंकड़ों के मुताबिक इनमें से 422 स्टॉक की कीमत 40 प्रतिशत, 1,371 स्टॉक की कीमत 20 प्रतिशत और 1,872 स्टॉक की कीमत 10 प्रतिशत तक गिर गई है। कुल मार्केट वैल्यू के हिसाब से देखें तो बीएसई लिस्टेड स्टॉक की कीमत 14.15 लाख करोड़ रुपए से लेकर 140 लाख करोड़ रुपए तक गिर गई है।

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में जिन कंपनियों के शेयरों में तेजी आयी है, उनमें एचडीएफसी एएमसी, रिलायंस निप्पोन लाइफ एम, जाइडस वैलनेस, अपोलो हॉस्पिटल्स एंटरप्राइजेज, एबॉट इंडिया, एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस कंपनी आदि प्रमुख हैं।

वहीं इस दौरान जिन कंपनियों के शेयर में भारी गिरावट आयी है, उनमें HSIL, कॉफी डे एंटरप्राइजेज, जेट एयरवेज, रिलायंस कैपिटल, इंडियाबुल्स इंटीग्रेटिड सर्विस, सीजी पॉवर एंड इंडस्ट्रियल सॉल्यूशन आदि प्रमुख हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here