Home India क्या चंदा देने वाली कंपनी पर मेहरबान बीजेपी?, मिला बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट...

क्या चंदा देने वाली कंपनी पर मेहरबान बीजेपी?, मिला बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का टेंडर

91
SHARE

महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री पद संभालने के बाद उद्धव ठाकरे सरकार ने पिछली बीजेपी सरकार के फैसलों की समीक्षा करना शुरू कर दिया है। ऐसे में मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट भी अछूता नहीं रहा। ऐसे में एक बड़ा खुलासा हुआ है।

जनसता ने ‘द क्विंट’ के हवाले से अपनी रिपोर्ट में लिखा कि मुंबई अहमदाबाद हाई स्पीड रेलवे प्रोजेक्ट (MAHSR) के तहत कम से कम तीन टेंडर ऐसी कंपनियों को दिए गए, जिन्होंने पिछले सालों में बीजेपी को चंदा दिया है। जिसमे गुजरात की कंस्ट्रक्शन कंपनी क्यूब कन्स्ट्रक्शन इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड भी शामिल है।  क्यूब कन्स्ट्रक्शन इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड ने बीजेपी को साल 2012-13 और 2017-18 के बीच तीन किश्तों में कुल 55 लाख रुपये डोनेशन दिए हैं। बाद में इसी कंपनी को गुजरात की बीजेपी सरकार ने वडोदरा रेलवे स्टेशन के पास पश्चिम रेलवे के कम्प्यूटरीकृत आरक्षण प्रणाली परिसर के लिए पट्टे पर जमीन दी।

‘द क्विंट’ ने कंपनी की वेबसाइट पर उपलब्ध आंकड़ों के हवाले से लिखा है कि गुजरात की बीजेपी सरकार ने इस कंपनी को कई कंस्ट्रक्शन ठेके दिए हैं, जिनमें गुजरात औद्योगिक विकास निगम, गुजरात फोरेंसिक साइंसेज यूनिवर्सिटी, सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गुजरात शहरी विकास निगम और गुजरात शिक्षा विभाग से जुड़े निर्माण कार्य शामिल हैं। ऐसा नहीं है कि इस कंपनी ने सिर्फ गुजरात सरकार से ही ठेका हासिल किया हो बल्कि केंद्र सरकार के तहत आने वाली कंपनी महारत्न कंपनी ओएनजीसी, सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और इसरो से भी ठेके प्राप्त किए हैं। इतना ही नहीं कंपनी के कई प्रोजेक्ट्स का उद्घाटन बीजेपी के बड़े नेताओं द्वारा किया गया है। एक प्रोजेक्ट का उद्घाटन तो खुद पीएम नरेंद्र मोदी ने किया है। एक प्रोजेक्ट का उद्घाटन अमित शाह ने किया है।

इसके अलावा अन्य दो ऐसी कंपनियों के बारे में भी पता चला है जिन्होंने बीजेपी को डोनेशन दिया है और उन्हें सरकारी ठेके मिले हैं। इनमें से एक गुजरात की कंपनी KR Savani है, जिसे मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेलवे प्रोजेक्ट के तहत वडोदरा रेलवे स्टेशन पर अलग-अलग सर्विस बिल्डिंग के कंस्ट्रक्शन का काम मिला है। इस कंपनी ने साल 2012-13 के दौरान बीजेपी को 2 लाख रुपये का चंदा दिया था।

एक अन्य ठेकेदार धनजी के पटेल हैं जिन्होंने बीजेपी को 2017-18 में 2.5 लाख रुपये का चंदा दिया है। इस कंपनी को भी मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेलवे प्रोजेक्ट के तहत वतवा से साबरमती-डी केबिन के बीच विविध निर्माण कार्य का ठेका मिला है। इनके अलावा एक अन्य कंपनी रचना इंटरप्राइजेज को भी वडोदरा के नजदीक लाइन नंबर 14,15 और 16 में ओवरहेड इलेक्ट्रिफिकेशन का ठेका दिया गया है। इसी नाम से मिलती एक कंपनी ने बीजेपी को कई बार चंदे दिए हैं लेकिन यह साफ नहीं हो सका है कि ठेका हासिल करने वाली और चंदा देनेवाली कंपनी एक ही है।


बदल गया अरब का कानून, अब अरबी महिला से भारतीय पुरुष भी शादी कर सकतें हैं , अगर आप भी शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें