Home India INX मीडिया केस: चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत, 106 दिन...

INX मीडिया केस: चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत, 106 दिन बाद आएंगे तिहाड़ से बाहर

17
SHARE

नई दिल्ली. आईएनएक्स मीडिया घोटाले में आरोपी पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम (74) को सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को मनी लॉन्ड्रिंग केस में भी सशर्त जमानत दे दी। उनका पासपोर्ट जब्त रहेगा। ताकि वह देश छोड़कर ना जा पाएं।

अदालत ने कहा है कि चिदंबरम किसी भी तरह से गवाहों और सबूतों को प्रभावित नहीं करेंगे। वे इस मामले में मीडिया में कोई बयान और इंटरव्यू भी नहीं दे सकते। उन्हें दो लाख के बॉन्ड और दो लाख के मुचलके पर जमानत दी गई है। बता दें कि चिदंबरम भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 106 दिन से तिहाड़ जेल में बंद हैं। 21 अगस्त को भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तारी के करीब 2 महीने बाद उन्हें बेल मिली थी। लेकिन इसके तुरंत बाद ईडी ने उन्हें मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार कर लिया था। दोनों ही केस में जमानत के बाद अब चिदंबरम जेल से रिहा होंगे।

जस्टिस आर भानुमति की अगुआई वाली बेंच ने फैसला सुनाते हुए कहा, ‘अपराध की गंभीरता को हर मामले के तथ्यों और परिस्थितियों से निपटना पड़ता है. आर्थिक अपराध गंभीर अपराध हैं। न्यायालयों को मामले की प्रकृति के प्रति संवेदनशील होना होगा। अपराध की ‘गंभीरता’ को ध्यान में रखने के लिए दी जाने वाली शर्तों में से एक है निर्धारित सजा। यह ऐसा नियम नहीं है कि हर मामले में जमानत से इनकार किया जाना चाहिए। निष्कर्ष यह है कि किसी अन्य मामले की मिसाल के आधार पर जमानत देने या जमानत से इंकार करने की जरूरत नहीं है। केस टू केस आधार पर विचार होना चाहिए।’

साथ ही कहा, ‘दिल्ली HC ने अपराध के गंभीरता से संबंधित जमानत को सही ठहराया था। हालांकि, हम मामले की मेरिट पर दिल्ली HC की टिप्पणियों को अस्वीकार करते हैं। वर्तमान परिस्थितियों में हम सीलबंद कवर दस्तावेज़ों को खोलने में रुचि नहीं रखते थे। लेकिन जब इसे दिल्ली HC द्वारा खोला गया था तो हमने सीलबंद कवर की सूचना ले ली है।पूर्व में जमानत के लिए मना कर दिया गया था और अपीलकर्ता 40 दिनों के लिए पूछताछ के लिए उपलब्ध था।’

इसी बीच उनके बेटे कार्ति चिदंबरम ने कहा कि वह गुरुवार को 11 बजे संसद में आएंगे। एनडीटीवी से बात करते हुए कार्ति ने कहा, ‘मुझे बहुत खुशी है कि मेरे पिताजी को जमानत मिल गई और अब वह घर लौट आएंगे। उन्हें जानबूझकर राजनीति की वजह से निशाना बनाया गया। यह सब सरकार की आलोचना की वजह से हुआ। 2007 का मामला 2017 में दर्ज हो रहा है। बीजेपी को जो कहना हो कहे, हम कोर्ट में जवाब देंगे। पूर्व गृह मंत्री कल 11 बजे संसद आएंगे और पहले की तरह हर मुद्दे पर बोलते रहेंगे।’


बदल गया अरब का कानून, अब अरबी महिला से भारतीय पुरुष भी शादी कर सकतें हैं , अगर आप भी शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें