Home India संभल: एमएसओ की यूनिट का गठन, सय्यद वामिक जिला अध्यक्ष बने

संभल: एमएसओ की यूनिट का गठन, सय्यद वामिक जिला अध्यक्ष बने

23
SHARE

संभल: क्रांतिकारी शहीद अशफ़ाक़ उल्लाह खान की जयंती के मोके पर, हिंदुस्तान में सूफी विचारधारा के सबसे बड़े छात्र संगठन मुस्लिम स्टूडेंट्स आर्गनाइज़ेशन आफ इण्डिया (एमएसओ) की बैठक शहर संभल के खग्गू सराय मैं आयोजित की गई।  बैठक मे शहीद अशफ़ाक़ उल्लाह खान को खिराज ए अक़ीदत पेश की गई।

इस मौके पर राष्ट्रीय सचिव अनीस अहमद शिराजी अलीग और उत्तर प्रदेश सयोंजक मोहम्मद वसीम अख्तर बरकाती की उपस्थिति में एमएसओ की जिला यूनिट का भी गठन किया गया। जिसमे सय्यद वामिक अली को जिलाअध्यक्ष, मोहम्मद मोबीन अशरफ को जिला उपाध्यक्ष, शोएब वास्ती को जिला महासचिव, क़ासिम जिलानी को जिला सचिव व शारिक जिलानी को मीडिया प्रभारी के पद की ज़िम्मेदारी प्रदान की गई।

बैठक को संबोधित करते हुए शिराजी ने कहा की एमएसओ देश में अहले सुन्नत वल जमात के नोजवानो की सबसे बड़ी तंज़ीम है। जो पैगंबर ए इस्लाम हज़रत मोहम्मद (सल्ल.) की तालिमो को आम करने और नोजवानो मैं दीनी शउर पैदा करने के साथ, नोजवानो मैं क़ौम और मुल्क़ की खिदमत का जज्वा पैदा करने का काम करती है।

उन्होने कहा, संस्था का मकसद इस्लाम का अमन और भाईचारे का पैगाम घर घर पहुचाना है और नोजवानो को संस्था की मुहिम से जोड़कर उन्हे तरक़्क़ी के रास्ते पर ले जाना है। उन्होने कहा की तालीम के बिना मुसलमानो का विकास मुमकिन नही है।

संस्था के संयोजक वसीम अख़्तर बरकाती ने कहा की शहीद अशफ़ाक़ उल्लाह खान का जीवन और शहादत हिंदुस्तान के स्वर्णिम इतिहास का अहम् हिस्सा है। अशफ़ाक़ उल्लाह खान देश के युवाओ खासकर मुस्लिम युवाओ के लिए प्रेरणास्रोत हैं।


बदल गया अरब का कानून, अब अरबी महिला से भारतीय पुरुष भी शादी कर सकतें हैं , अगर आप भी शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें