सऊदी अरामको और रिलायंस इंडस्ट्रीज के बीच हुआ 1 लाख करोड़ रू का बड़ा सौदा

मुंबई. रिलायंस इंडस्ट्रीज के ऑयल रिफाइनरी और केमिकल बिजनेस में सऊदी अरामको 15 अरब डॉलर (1.06 लाख करोड़ रुपए) में 20% हिस्सेदारी खरीदेगी।कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने सोमवार को यहां आरआईएल की 42वीं वार्षिक आम सभा में यह बात कही।

इसके अलावा कंपनी ने पेट्रोलियम ईंधन के अपने खुदरा कारोबार की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी ब्रिटेन की कंपनी बीपी को बेचने की भी घोषणा की। इस सौदे में कंपनी को 7,000 करोड़ रुपये मिलेंगे। अंबानी ने कहा कि 20 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के लिए सऊदी अरामको के साथ समझौता हो चुका है। इस सौदे के लिए कंपनी के तेल और पेट्रोरसायन कारोबार का मूल्य 75 अरब डॉलर आंका गया है।

उन्होंने कहा, ‘‘ यह न केवल रिलायंस के इतिहास में सबसे बड़ा प्रत्यक्ष विदेशी निवेश होगा बल्कि इसकी गिनती देश के सबसे बड़े विदेशी निवेश के सौदों में होगी।’’ अंबानी ने कहा कि इस सौदे में रिलायंस की सभी रिफाइनरी और पेट्रोरसायन परिसंपत्तियां को रखा गया है।

अंबानी ने कहा कि समझौते के तहत दीर्घावधि के लिए अरामको रिलायंस की गुजरात के जामनगर स्थित दोनों रिफाइनरियों को प्रतिदिन 7,00,000 बैरल कच्चे तेल की आपूर्ति भी करेगा। अरामको दुनिया की सबसे बड़ी कच्चा तेल निर्यातक कंपनी है। उन्होंने कहा कि इस सौदे पर अभी नियामकीय अनुमतियां मिलना बाकी है।

अरामको और बीपी के साथ डील से मिलने वाली रकम से रिलायंस को कर्ज कम करने में मदद मिलेगी। रिलायंस समूह पर 1 लाख 54 हजार 478 करोड़ रुपए का कर्ज है। एजीएम में मुकेश अंबानी ने कहा कि 18 महीने में रिलायंस को कर्ज मुक्त कंपनी बनाने का लक्ष्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *