‘शांति वार्ता’ फेल होने पर तालिबान का अमेरिका के खिलाफ बड़ा ऐलान

0
339

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा तालिबान के साथ वार्ता खत्म करने का एलान के बाद मंगलवार को तालिबान ने कसम खाई है कि वह अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों के साथ लड़ाई जारी रखेगा। तालिबान ने ये भी कहा है कि वॉशिंगटन को वार्ता छोड़ने का अफसोस होगा।

तालिबान का यह बयान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के यह कहने के बाद आया है कि तालिबान के साथ लंबे समय से चल रही अफगानिस्तान शांति वार्ता का ‘‘अंत’’ हो गया है।

तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने कहा, ‘‘हमारे पास अफगानिस्तान में कब्जे को खत्म करने के दो तरीके थे, एक जिहाद और लड़ाई थी, दूसरा बातचीत था।’’ मुजाहिद ने कहा, ‘‘अगर ट्रंप बातचीत बंद करना चाहते हैं तो हम अपना पहला तरीका अपनाएंगे और वे शीघ्र इसपर अफसोस करेंगे।’’

ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, ‘‘ उसका (तालिबान के साथ वार्ता) अंत हो चुका है। जहां तक मेरा सवाल है, वह समाप्त हो चुकी है।’’ मुजाहिद ने ट्वीट किया, ‘‘ अमेरिका ने पिछले चार दिनों में तालिबान पर जितने कठोर प्रहार किए हैं उतने पिछले 10 वर्षों में नहीं किए गए।’’

अमेरिका ने यह कदम काबुल में पिछले सप्ताह हुए हमले की जिम्मेदारी तालिबान द्वारा लेने के बाद उठाया है। इस हमले में अमेरिका का एक सैनिक भी मारा गया था। वार्ता रद्द करने के फैसले के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने कहा, ‘‘उन्होंने (तालिबान) सोचा कि बातचीत में खुद को बेहतर स्थिति पर रखने के लिए उन्हें लोगों को मारना होगा…वह मेरे साथ ऐसा नहीं कर सकते।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here