Home Uncategorized अमेरिका के परमाणु हथियारों पर तुर्की का कब्जा, सीरिया में पांच...

अमेरिका के परमाणु हथियारों पर तुर्की का कब्जा, सीरिया में पांच दिनों का संघर्ष विराम

1631
SHARE

तुर्की सेनाओं द्वारा उत्तरी सीरिया में कुर्दिश फौज पर आक्रामक हमलों के बाद अमेरिका और तुर्की के बीच अहम समझौता हुआ। अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने गुरुवार को मीडिया को जानकारी दी कि तुर्की ने पांच दिनों के संघर्ष विराम पर सहमति व्यक्त की है।

समझौते के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि यह सौदा तीन दिन पहले तक नहीं हो सकता था। इसे पूरा करने के लिए कुछ कठिन प्रेम की आवश्यकता थी। सबके लिए अच्छा है। सभी पर गर्व है।

ट्रंप ने कहा कि उनके लिए एक महान दिन है। अमेरिका के लिए गर्व की बात है। इस समझौते के लिए कई साल से कोशिश चल रही थी। करोड़ों जिंदगियां बच जाएंगी। सभी को बधाई।

बता दें कि तुर्की ने पिछले सप्ताह इस अभियान की शुरुआत की थी। इसका मक़सद कुर्द बलों को सीमा से पीछे धकेलकर, सीरियाई शरणार्थियों के लिए एक ‘सेफ़ ज़ोन’ बनाना है।

तुर्की के विदेश मंत्री मेवलूत चावूशॉलू ने पत्रकारों से कहा कि एसडीएफ़ बॉर्डर ज़ोन से हट जाता है तो तुर्की का हमला स्थाई रूप से रोक दिया जाएगा। उन्होंने कहा, “हम ऑपरेशन स्थगित कर रहे हैं, समाप्त नहीं कर रहे हैं। हम तभी ऑपरेशन ख़त्म करेंगे जब कुर्द लड़ाके पूरी तरह क्षेत्र से नहीं हट जाते।”

इसके अलावा ये भी खबर है कि उत्तरी सीरिया में तुर्की ने अमेरिका के 50 से अधिक परमाणु हथियारों को अपने कब्जे में ले लिया है। अमेरिका के 50 से ज्यादा परमाणु हथियार दक्षिणपूर्व तुर्की के इनसिरलिक एयरबेस पर रखे हैं। यह एयरबेस इराक और सीरिया में इस्लामिक स्टेट समूह (आईएस) आतंकियों के खिलाफ इस्तेमाल किया जाता है। यहां से ड्रोन और लड़ाकू विमान उड़ान भरते हैं।

द न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी रक्षा विभाग और परमाणु शस्त्रागार का प्रबंधन करने वाले अधिकारी इस बात पर विचार कर रहे है कि तुर्की से ये परमाणु हथियार वापस कैसे लिए जाएं।


बदल गया अरब का कानून, अब अरबी महिला से भारतीय पुरुष भी शादी कर सकतें हैं , अगर आप भी शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें